ज़िद है..

 

ज़िद है

कुछ करने की इस ज़िन्दगी में ,

याद करे पुश्ते हमारी,

कर जायें ऐसा कुछ ,

जो किया ना कभी किसी  ने ,

ज़िद है ,

बने एक मिसाल हमारा भी ,

ना चाहा बुरा,

ना हो बुरा किसी का ,

यही सोच है हमारी ,

ज़िद है ,

मिटा दूँ ग़मज़दा लोगों के ,

सारे दुखों को,

ऐसी शक्ति पाने की ,

तलाश है हमारी ,

ना हो कोई दुखी ,

इस धरा पर ,

हों जायें सभी सुखी ,

कर दूँ ऐसा कुछ ,

ज़िद है

सहनशील हो जाऊ ,

ना असर हो किसी दुखों का ,

ऐसा कुछ पाने की ,

और कुछ कर दिखाने,

ज़िद है,

सारे झंझावतों से लड़ने और  ,

उससे पार पाने की,

मूल कष्टों को हरा कर ,

उनसे जीत जाने की ,

ज़िद है

आएगा वो दिन भी ,

जब ग़म भी ग़मज़दा हो  जायेगा ,

जब दुःख भी दुखी हो जायेगा ,

तब भी मेरे ज़िद के आगे ,

हार भी मेरे जीत में मुस्कुराएगा ,

ज़िद है,

 

TAG 35

determination

 आपका ,

meranazriya.blogspot.com

meranazriyablogspotcom.wordpress.com

Advertisements

2 thoughts on “ज़िद है..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s